reach@chitrakootdham.com

(+91)-7982397843

(+91)-7042940079

(+91)-9560188733

  • चित्रकूट के घाट पर भई सन्तन की भीर । तुलसीदास चन्दन घिसैं तिलक देत रघुवीर ।।

Arun Kumar Gupta

arun-guptaअरुण कुमार गुप्ता
सह सयोंजक एवं पूर्व सभासद चित्रकूट
सदस्य निर्मल मन्दाकिनी समिति चित्रकूट
सदस्य सहयोग एवं विकास संस्थान चित्रकूट

हम सभी अपने पवन चित्रकूट को स्वछ,सुन्दर,हरित और प्रदूषण मुक्त देखना चाहते है जैसा की भगवन राम के समय था और गोस्वामी तुलसीदास जी ने जैसा रामायण में वर्णन किया है| मैं सदैव अपनी और आप सभी की कुछ मांगो को लेकर प्रदेश और भारत सरकार को पत्रो के द्वारा अवगत करता रहा हूँ |
कुछ समस्याएं निम्नवत है जिस पर हम सबको और हमारे प्रतिनिधियों को ध्यान देने की जरूरत है |

> चित्रकूटधाम विस्वप्रशिद्ध धार्मिक स्थल है भगवान राम की वन स्थली और टप स्थली है ,भरी मात्रा में श्रद्धालु और पार्यटक यंहा आते है पर यंहा बस स्टैंड नहीं होने के कारण काफी परेशानी होती है| कृपया चित्रकूट में बस स्टैंड बनाया जाये और उसे सारी आने जाने बसो का स्टपेज बनाया जाये |

> चित्रकूट आने वाली चारो तरफ की सड़के जीर्ण -शीर्ण है, जिससे आने वाले पर्यटकों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है | कृपया उनका पुनर्निर्माण कराया जाये |

> मन्दाकिनी गंगा का उद्गम स्थल अंशुइया आश्रम के सामने पक्का घाट बनाये जाने से सैकड़ो की संख्न्या जल श्रोत विलुप्त हो गए है | कृपया जल स्रोत खुलवाये जाएँ |

> चित्रकूट में प्रतिदिन पांच से दश हजार तीर्थ यात्री आते है तथा प्रत्येक माह अमावस्या के दिन दश लाख तीर्थ यात्री आते है परन्तु न यंहा रैन बशेरा है न ही सुलभ शौचालयों की सुविधा है | चित्रकूटधाम की इतनी उपेक्षा क्यों की जा रही है |

> चित्रकूट के कई दार्शनिक स्थलों पर तीर्थ यात्रियों से जबरन चढ़ावे के रूप में पैसे मांगे जाते है और पैसा न चढाने पर बेइज्जत भी किया जाता है | इस पर रोक लगाना चाहिए |

> चित्रकूटधाम में रामघाट तथा परिक्रमा में जँहा अधिक अधिक भीड़ होती है वँहा सी-सी कैमरा लगाये जाने से अपराधो में रोक लगेगी |

आप मुझे ईमेल द्वारा मैसेज कर सकते है और अपनी राय दे सकते है |

[contact-form-7 404 "Not Found"]

Hotel Reservation Enquiry

?>
(+91)-7982397843 (+91)-7042940079

Testimonials